[ad_1]

जैतून के तेल के हमारे स्वास्थ्य संबंधी अनेक लाभ हैं, लेकिन अध्ययनों से पता चलता है कि यह हृदय रोगियों के लिए विशेष तौर पर फायदेमंद है। क्योंकि इसमें अनसैचुरेटेड फैटी एसिड और पॉलीफेनोल यौगिक मौजूद होते हैं। जो आपके हृदय को कई तरह की समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। ऐसे में सर्दियों में जैतून के तेल का सेवन करने से आपको अपने दिल को स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है, चलिए हम आपको बताते हैं कि कैसे सर्दियों में हार्ट हेल्‍थ के लिए फायदेमंद है जैतून का तेल। 

 

क्या कहती है स्टडी

 

अप्रैल 2020 में प्रकाशित 24 वर्षों के एक बड़े अध्ययन में 61,181 महिलाएं और 31,797 पुरुष शामिल थे। जिसमें यह दिखाया गया कि जैतून के तेल का सेवन हृदय रोग के जोखिम को कम करता है। कम जैतून के तेल के सेवन के साथ समूह की तुलना में उच्च जैतून के तेल सेवन समूह में 18% कम कोरोनरी हृदय रोग था।

 

यह भी पढ़ें: आयुर्वेद के ये 5 टिप्स आपको तन और मन दोनों से रखेंगे स्‍वस्‍थ, जानिए क्‍या है स्‍वस्‍थ रहने का वैदिक फॉर्मूला

 

शोधकर्ताओं ने 7 ग्राम से अधिक मार्जरीन, मक्खन, मेयोनेज़, या डेयरी वसा प्रति दिन उच्च वसा वाले भोजन के रूप में खाने वाले किसी भी व्यक्ति को लेबल किया। जब लोगों ने अस्वस्थ वसा के केवल 5 ग्राम प्रति दिन जैतून के तेल से बदल दिया, तो कोरोनरी हृदय रोग के जोखिम में 7% की कमी आई।

 

heart health

 

पोलीफिनोल हृदय रोग के जोखिम को कम करता है

 

अन्य अध्ययनों से पता चलता है कि जैतून के तेल में पॉलीफेनोल यौगिक होता है, यह तत्व हृदय की रक्षा करते हैं। पॉलीफेनोल्स यौगिकों का एक समूह है जो दिल के दौरे और स्ट्रोक की दर को कम करता है।

 

जैतून के तेल में अनसैचुरेटेड फैटी एसिड होते हैं मौजूद

 

टोरंटो, कनाडा के सेंट माइकल हॉस्पिटल में हुए शोध में पता चला है कि रक्त में प्रोटीन, अपोलीपोप्रोटीन A-IV (Apo A-IV) महत्वपूर्ण था। यह प्लेटलेट एकत्रीकरण और थक्के को रोकता है। जब आप जैतून के तेल के साथ भोजन करते हैं, तो आपका Apo A-IV स्तर ऊपर चला जाता है। यह कुछ समय के लिए आपके प्लेटलेट्स को स्थिर करता है। 

 

नतीजतन, कोई भी व्यक्ति जो जैतून के तेल के साथ भूमध्य आहार (Meditaranian diet) का सेवन करता है, उन में दिल के दौरे और स्ट्रोक का जोखिम कम होता है।

 

पॉलीफेनोल और अनसैचुरेटेड फैटी एसिड

 

अन्य शोधों से पता चला कि जैतून के तेल में पॉलीफेनोल्स और असंतृप्त फैटी एसिड मौजूद होते हैं, जो लोगों को दिल के दौरे और स्ट्रोक से बचाता है। जब आप जैतून के तेल का उपयोग मेडिटेरियन डाइट के साथ करते हैं, जिसमें बहुत सारी सब्जियां होती हैं, तो आप सब्जियों के बायो फ्लेवोनोइड्स के साथ जैतून के तेल के सुरक्षात्मक प्रभाव को बढ़ाते हैं। जिससे दिल के दौरे और स्ट्रोक का बहुत कम जोखिम होता है।

यह भी पढ़ें: सर्दियों में डायबिटीज के साथ भी रह सकती हैं स्‍वस्‍थ, बस इन 5 फूड्स का करें सीमित मात्रा में सेवन

 

जैतून के तेल को अपने आहार में शामिल करने का यह एक बड़ा कारण हो सकता है। क्‍या आप नहीं चाहेंगी कि इस कड़कती सर्दी में आप अपने परिवार को यह हेल्‍दी गिफ्ट दें।

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here