[ad_1]

कोरोना संक्रमण से बचाव और रोकथाम के लिए जागरूक करने वाली अमिताभ बच्चन की आवाज में कॉलर ट्यून अब नहीं सुनाई देगी। उनकी जगह किसी महिला की आवाज का इस्तेमाल किया जाएगा। हालांकि अभी यह पता नहीं चल सका है कि अमिताभ बच्चन के विकल्प के तौर पर किसकी आवाज को इस्तेमाल किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक अब लोगों को कोरोना से बचाव की बजाय वैक्सीन के अभियान के बारे में जानकारी दी जाएगी। बता दें कि कोरोना कॉलर ट्यून के लिए अमिताभ बच्चन की आवाज के इस्तेमाल पर आपत्ति भी जताई गई थी।

यही नहीं अमिताभ की आवाज के इस्तेमाल के खिलाफ बीते दिनों याचिका भी दाखिल हुई थी, जिसमें कहा गया था कि वह खुद कोरोना संक्रमित रह चुके हैं, ऐसे में उनकी आवाज का यूज किया जाना ठीक नहीं है। बीते साल जुलाई में ही अमिताभ बच्चन, उनके बेटे अभिषेक बच्चन, बहू ऐश्वर्या राय बच्चन और पोती आराध्या कोरोना संक्रमित हो गए थे। यह याचिका दिल्ली स्थिति सामाजिक कार्यकर्ता राकेश की ओर से दाखिल की गई थी। राकेश का कहना था कि सरकार का मकसद इस कॉलर ट्यून के जरिए लोगों को कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक करना है, जबकि अमिताभ और उनका परिवार खुद ही इसके दायरे में आ चुके हैं।

गजनवी को दो बार खदेड़ने वालीं रानी दिद्दा का रोल करेंगी कंगना रनौत

याचिकाकर्ता ने कोर्ट में कहा था कि केंद्र सरकार की ओर से अमिताभ बच्चन को कॉलर ट्यून में इस आवाज के लिए भुगतान किया जा रहा है, जबकि देश में ऐसे भी कई कोरोना वॉरियर हैं, जो फ्री में ही यह काम करने के लिए तैयार हैं। याची का कहना था कि अमिताभ बच्चन सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर अपना रोल अदा नहीं कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें इससे हटाया जाना चाहिए। याचिकाकर्ता का कहना था कि कोरोना काल में उसने गरीब लोगों की मदद की थी। उसने गरीबों को राशन पानी आदि मुहैया कराया था। 

नौकरानी का दूध पी बड़ी हुईं और बनीं क्वीन, पढ़ें- रानी दिद्दा की कहानी

पेशेवर तौर पर बात करें तो अमिताभ बच्चन ने बुधवार को ही कौन बनेगा करोड़पति के एपिसोड की शूटिंग पूरी की थी। यही नहीं अमिताभ बच्चन ने एक ब्लॉग पोस्ट लिखकर खुद के थकने और रिटायर होने की बात कही है। ऐसे में माना जा रहा है कि यह शायद केबीसी का उनका आखिरी सीजन होगा।

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here