[ad_1]

जापान के राष्ट्रीय संक्रामक रोग संस्थान (एनआईआईडी) ने कहा कि अधिकारियों ने ब्राजील से आने वाले चार यात्रियों में कोरोना वायरस का इंग्लैंड जैसा ही नए प्रकार की पहचान की है।

इस नए संस्करण में इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में पाए जाने वाले प्रकार से काफी समानता है। एनआईआईडी ने रविवार को एक बयान में कहा कि नए संस्करण की जानकारी उसके जेनेटिक मेक-अप तक सीमित है और यह तुरंत निर्धारित करना मुश्किल है कि यह नया प्रकार कितना संक्रामक है या वर्तमान टीकों से कितना प्रभावित होनेवाला है। 

जापान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक अलग बयान में कहा कि ब्राजील से जापान के हनेडा हवाई अड्डे पर 2 जनवरी को उतरे चार यात्रियों वायरस का नया प्रकार पाए जाने के बाद उनका उपचार किया जा रहा है।

40 से अधिक की उम्र वाले एक पुरुष की श्वसन प्रणाली बिगड़ने के कारण उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। एनआईआईडी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को नए स्ट्रेन की जानकारी दी है। मंत्रालय ने कहा कि संस्थान इस बात की जांच कर रहा है कि यह नया प्रकार कहीं अधिक खतरनाक तो नहीं है। 

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here