[ad_1]

तेलंगाना उच्च न्यायालय में प्रैक्टिस करने वाले जाने-माने वकील दंपति को आज दोपहर मंथनी और पेद्दापल्ली शहरों के बीच सड़क पर मौत के घाट उतार दिया गया। यह दंपति गट्टू वामन राव और उनकी पत्नी पीवी नागमणि अदालत में पेश होने के बाद वापस लौट रहे थे, जब वे रास्ते में थे इसी बीच उनपर हमला हो गया।

इस हत्या को कई लोगों ने अपने फोन के कैमरे में कैद कर लिया। इस वीडियो में यह दावा किया जा रहा है कि हमलावरों ने सड़क पर उनका पीछा करते हुए उन्हें ठोकर मार दी।

इस घटना की कुछ एक वीडियोज में देखा जा सकता है कि जिसमें वह सड़क पर पड़े हुए हैं और हमलावर उन्हें बार-बार छुरा मारता है। जैसे ही जमीन पर पड़ा आदमी हिलना बंद करता है और हमलावर उसकी कार में घुस जाता है और भाग जाता है, बस भी चल देती है। एक मोटरसाईकिल वाला जो यह देखने से रुक गया था, वह भी वहां से जाने लगता है।

उन्नाव में दिल दहलाने वाली घटना, खेत में बंधी मिलीं तीन नाबालिग दलित लड़कियां, दो की मौत

एक दूसरे वीडियो में नागमणि को घायल दिखाया गया है, लगभग एक ही मुद्रा में बैठे हुए नजर आ रहे हैं और उस कार की सीट के बीच फंस हुए दिखाई देते हैं, जिसमें वे यात्रा कर रहे थे।

इसके आलावा एक और वीडियो में वामन राव को खून से लथपथ दिखाया गया है। वीडियो में उन्हें किसी के सवालों का जवाब देते हुए और हमलावर के बारे में बताते हुए देखा जाता है। उन्होंने कहा हमलावर कुंटा श्रीनिवास नाम का कोई व्यक्ति था, जिसे सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति का सदस्य बताया गया।

दंपति पर हुए हमले ने राज्य के वकीलों के बीच दहशत का माहौल पैदा कर दिया है। इस दंपति को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

पुलिस आयुक्त वी सत्यनारायण ने कहा, ” हमला करने वाले पेशेवर हत्यारे लगते हैं। आधे घंटे पहले, वामन राव के पिता किशन राव ने कुंती श्रीनिवास और अन्य के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी।”

उन्होंने कहा, “हम उसकी तलाश कर रहे हैं और उनके 10 साथियों को हिरासत में ले लिया है। हमने छह टीमों का गठन किया है। तीन डीसीपी, तीन एसीपी, टास्क फोर्स और साइबर-क्राइम सेक्शन जांच कर रहा है। इन नामांकित तीनों लोगों के अलावा भी हम जांच कर रहे हैं कि क्या इसमें अन्य लोग भी शामिल हैं?” 

इस दंपति ने कथित तौर पर तेलंगाना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के साथ एक औपचारिक शिकायत भी दर्ज कराई थी, जिसमें कहा गया था कि उनकी जान को खतरा है।

बार एसोसिएशन और अन्य संगठनों ने इस हमले की निंदा की है और आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। एक मांग यह भी है कि आरोपियों की ओर से कोई वकील पेश ना हो।



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here