[ad_1]

साउथ सुपरस्टार रजनीकांत को साल 2019 का दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड मिलने की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित रजनीकांत के चाहनेवालों ने बधाई दी।  रजनीकांत ने भी सबका दिल से शुक्रिया अदा किया। रजनीकांत ने सोशल मीडिया पर लिखा, भारत सरकार, आदरणीय और प्रिय नरेंद्र मोदी, प्रकाश जावड़ेकर और जूरी को मुझे प्रतिष्ठित दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड के लिए चुनने के लिए दिल से शुक्रिया। मैं ये अवॉर्ड उन सबको डेडिकेट करता हूं जो मेरी जर्नी का हिस्सा रहे हैं। ईश्वर का शुक्रिया। 2018 में यह सम्मान अमिताभ बच्चन को मिला था।

 

दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड भारत में सिनेमा जगत का सबसे प्रतिष्ठित सम्मान है। हर साल यह अवॉर्ड नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स सेरिमनी के दौरान दिया जाता है। यहां जानते हैं इस अवॉर्ड से जुड़ी कुछ इंट्रेस्टिंग बातें।

 

रजनीकांत को 3 मई को मिलेगा अवॉर्ड
 

रजनीकांत को 51वां दादासाहेब फाल्के सम्मान मिलेगा। रजनी ने 1975 में डेब्यू किया था। एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में उनको करीब 46 साल हो चुके हैं। PIB के ट्वीट के मुताबिक, यह अवॉर्ड उनको 3 मई 2021 को दिया जाएगा। इस अवॉर्ड का नाम धुंडीराज गोविंद फाल्के के नाम पर रखा गया है। उन्हें इंडियन सिनेमा का पिता भी कहा जाता है। उन्होंने भारत की पहली फीचर फिल्म ( full length) ‘राजा हरिश्चंद्र’ डायरेक्ट की थी।

 

 

 

 

2017 में विनोद खन्ना को मिला था सम्मान

दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय (भारत सरकार) की तरफ से सिनेमा में अभूतपूर्व योगदान के लिए दिया जाता है। पहली बार यह सम्मान एक्ट्रेस देविका रानी को दिया गया था। 2017 में विनोद खन्ना फिर उसके बाद 2018 में यह सम्मान अमिताभ बच्चन को मिला था। 2019 का अवॉर्ड रजनीकांत को दिया जाएगा।

विजेता को मिलता है ये सब

2017 तक के अपडेट के मुताबिक, यह अवॉर्ड जीतने वाले को एक स्वर्ण कमल मेडल, एक शॉल और 10 लाख रुपये का कैश प्राइज दिया जाता है।



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here