[ad_1]

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़के साम्प्रदायिक दंगों के एक मामले में सुनवाई के दौरान अदालत ने आरोपी के बचाव में उसकी कम उम्र का हवाला देने पर सख्त टिप्पणी की है। अदालत ने कहा कि इस दंगे के दौरान देश की राजधानी ने आजादी के 74 साल बाद बंटवारे के समय के हालात और दर्द को दोबारा महसूस किया। इसकी साजिश रचने वालों का खुलासा होना बेहद जरूरी है और इसके लिए प्रत्येक आरोपी से गहन पूछताछ होनी चाहिए। 

पुलिस की दलील मंजूर

कड़कड़डूमा कोर्ट स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश विनोद यादव की अदालत ने आरोपी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज करते हुए पुलिस की उस दलील को मंजूर कर लिया जिसमें कहा गया था कि आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ करना जरूरी है। 

दिल्ली में दंगे के बाद से फरार था आरोपी

न्यू उस्मानपुर इलाके में रहने वाले आरोपी ने अदालत से अग्रिम जमानत का आग्रह किया था। आरोपी ने कहा था कि वह महज 19 साल का है। दंगों के बाद वह पहले अपनी रिश्तेदार की शादी में मुंबई चला गया था फिर इलाहाबाद के पास गांव चला गया, जहां लॉकडाउन की वजह से वहीं फंस गया था, जबकि पुलिस ने बताया कि आरोपी के खिलाफ 5 मार्च 2020 को ही एफआईआर दर्ज हो गई थी। इसके बाद गैर जमानती वारंट और फिर कुर्की की कार्रवाई शुरू हुई, लेकिन आरोपी हाजिर नहीं हुआ। 

ये भी पढ़ें : ‘उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुआ दंगा भी महाभारत की तरह एक षड्यंत्र था’

दिल्ली दंगे में 53 लोगों की हुई थी मौत

गौरतलब है कि नागरिकता कानून के समर्थकों और विरोधियों के बीच संघर्ष के बाद 24 फरवरी को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, घोंडा, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार इलाकों में साम्प्रदायिक दंगे भड़क गए थे।

इस हिंसा में कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई थी और 200 से अधिक लोग घायल हो गए थे। साथ ही सरकारी और निजी संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचा था। उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पम्प को फूंक दिया था और स्थानीय लोगों तथा पुलिस कर्मियों पर पथराव किया।

इस दौरान राजस्थान के सीकर के रहने वाले दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल की 24 फरवरी को गोकलपुरी में हुई हिंसा के दौरान गोली लगने से मौत हो गई थी और डीसीपी और एसीपी सहित कई पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल गए थे। साथ ही आईबी अफसर अंकित शर्मा की हत्या करने के बाद उनकी लाश नाले में फेंक दी गई थी। 

ये भी पढ़ें : दिल्ली दंगे : ताहिर और खालिद के गठजोड़ पर चार्जशीट में बड़ा खुलासा

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here