[ad_1]

भारत समेत दुनिया के किसी भी देश के लोगों को ब्रिटेन के लिए रवाना होने से 72 घंटे पहले कोविड-19 की निगेटिव जांच रिपोर्ट दिखानी होगी। ब्रिटेन ने कोरोना वायरस के नए स्वरूप के प्रकोप की रोकथाम के लिए शुक्रवार को घोषित नए कदमों के तहत यह घोषणा की। अगर यात्री नए नियमों का पालन नहीं करते या प्रस्थान पूर्व जांच नहीं कराते, तो उन पर 500 पाउंड का जुर्माना लगेगा।

अगले सप्ताह से हवाई मार्ग या ट्रेन से ब्रिटेन के लिए रवाना होने वाले यात्रियों को अपने देश से प्रस्थान करने से 72 घंटे पहले जांच करानी होगी और बिना निगेटिव जांच रिपोर्ट के उन्हें रवाना नहीं होने दिया जाएगा। ब्रिटेन के परिवहन मंत्री ग्रांट शैप्स ने कहा, ”हमने कोविड-19 के बाहर से आने वाले मामलों पर रोकथाम के लिए पहले ही कई कदम उठाए हैं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सामने आ रहे वायरस के नये स्वरूप को देखते हुए हमें अतिरिक्त सावधानी बरतनी होगी।”

ब्रिटेन ने कोविड-19 की रोकथाम के लिए मॉडर्ना के टीके को मंजूरी दी
इस बीच, ब्रिटेन के नियामक प्राधिकार ने मॉडर्ना कंपनी द्वारा निर्मित कोविड-19 टीके के इस्तेमाल की शुक्रवार को मंजूरी दे दी जो ब्रिटेन में मंजूरी पाने वाला तीसरा कोरोना वायरस टीका होगा। हालांकि नए टीके की आपूर्ति अगले कुछ सप्ताह में होने की उम्मीद नहीं है और ब्रिटेन ने 70 लाख खुराकों का ऑर्डर दिया है। 30 हजार से अधिक लोगों पर हुए परीक्षण में मॉडर्ना के टीके ने कोविड से करीब 95 प्रतिशत सुरक्षा वाले परिणाम दर्शाए।

फाइजर और बायोएनटेक के टीके की तरह काम करने वाले मॉडर्ना के टीके को शून्य से 20 डिग्री सेल्सियस कम तापमान पर रखना होता है। ब्रिटेन में इस्तेमाल के लिए अब तक स्वीकृत तीनों टीकों की दो खुराक लगानी होंगी। ब्रिटेन में अब तक करीब 15 लाख लोग कोविड-19 टीके की कम से कम एक खुराक लगवा चुके हैं।

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here