[ad_1]

पाकिस्तान जब भी किसी आंतरिक संकट से जूझ रहा होता है, वहां के प्रधानमंत्री भारत के खिलाफ उलूल-जुलूल बयान देकर वहां की आवाम का ध्यान भटका देत हैं। बिजली संकट से घिरे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने लोगों का ध्यान पावर कट से हटाने के लिए एक बार फिर से कश्मीर राग अलापा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर का स्वायत्त दर्जा बहाल होने तक भारत से कोई भी बातचीत संभव नहीं है।

इस्लामाबाद में डिजिटल मीडिया के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के दौरान भारत के साथ वार्ता की संभावनाओं को लेकर पूछे गए एक सवाल पर इमरान खान ने यह प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर का स्वायत्त दर्जा बहाल होने तक भारत के साथ बातचीत संभव नहीं है।’ उन्होंने दावा किया कि भारत को छोड़कर हमारा किसी के साथ भी शत्रुतापूर्ण संबंध नहीं है। पाकिस्तान को अस्थिर करने की कोशिश कर रहा है भारत। 

भारत अंतरराष्ट्रीय समुदाय को स्पष्ट रूप से बता चुका है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म किया जाना उसका आंतरिक मामला है। भारत पहले ही पाकिस्तान को वास्तविकता स्वीकार करने और भारत विरोधी तमाम झूठे प्रपंचों से दूर रहने को कह चुका है।

दरअसल, यह पहली बार नहीं है जब इमरान ने कश्मीर को लेकर उलूल-जुलूल बयानबाजी की है। इमरान इससे पहले भी कई बार कश्मीर का राग अलाप कर भारत पर कई आरोप लगा चुके हैं। इतना ही नहीं, आतंक को पैदा करने वाला पाकिस्तान खुद भारत पर आतंक फैलाने का आरोप लगा चुका है। 

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here