[ad_1]

छोटी बचत योजनाओं में निवेश करने वाले लोगों को मोदी सरकार ने एक दिन पहले जो झटका दिया था, उस पर अब मरहम लगाते हुए अपनी गलती मान ली है।  अब पीपीएफ, एनएससी, बचत जमा , सुकन्या समृद्धि योजना, एक साल की मियादी जमा की ब्याज दरों में कटौती वापस ले लगी गई है। बता दें सरकार ने बुधवार को लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) और एनएससी (राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र) समेत लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में 1.1 फीसद तक की कटौती की थी। 

बचत योजना लेटेस्ट ब्याज दर फीसद में
सुकन्या समृद्धि योजना 7.6
एनएससी 6.8
पीपीएफ 7.1
सुकन्या समृद्धि योजना 7.6
पांच वर्षीय वरिष्ठ नागरिक बचत योजना 7.4
बचत जमा 4
एक साल की मियादी जमा 5.5

सीतारमण ने बृहस्पतिवार सुबह ट्वीट किया, ”भारत सरकार की छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर वही रहेगी जो 2020-2021 की अंतिम तिमाही में थी, यानी जो दरें मार्च 2021 तक थीं। पहले दिया गया आदेश वापस लिया जाएगा।

 

वित्त मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसार, पीपीएफ पर ब्याज 0.7 फीसद कम कर 6.4 फीसद जबकि एनएससी पर 0.9 फीसद कम कर 5.9 फीसद कर दी गयी थी। लघु बचत योजनाओं पर ब्याज तिमाही आधार पर अधिसूचित की जाती है। माना जा रहा है कि पश्चिम बंगाल, असम और तीन अन्य राज्यों में चल रहे विधानसभा चुनावों में भाजपा को किसी नुकसान से बचाने के लिए ब्याज दरों में कटौती का निर्णय वापस लिया गया।

इनपुट: एजेंसी

 



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here