[ad_1]

पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापार को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है। आर्थिक मामलों से जुड़ी एक कैबिनेट ने भारत के साथ व्यापार की मंजूरी देदी है। जिसके बाद अब पाकिस्तान 2021 जून तक भारत से कपास का आयात कर सकेगा। इस फैसले को लेकर इमरान खान अपने की मुल्क में आलोचना का सामना कर रहे हैं।

बता दें कि बुधवार को कैबिनेट कॉर्डिनेशन कमेटी ने एक रिपोर्ट रेश की थी जिसमें भारत के साथ कपास और चीनी के ट्रेड को दोबारा शुरू करने की अपील की गई थी। इस अपील को मंजूरी मिल गई, जिसके बाद अब पाकिस्तान आधिकारिक रूप से भारत के साथ व्यापार को फिर से शुरू करने की तैयारी में है।

पाकिस्तान के नए वित्त मंत्री हममाद अजहर ने कहा है कि इकॉनोमिक कॉर्डिनेशन कमेटी मे भारत से 0.5 मिलिटन चीनी और कपास आयात करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि भारत में चीनी की कीमत बहुत कम है इसलिए हम भारत से इसे आयात करने का फैसला लिया है।

19 महीन से बंद है व्यापार

बता दें कि अगस्त 2019 में जब भारत ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाकर विशेष राज्य का दर्जा खत्म किया था। अपना विरोध जताते हुए पाकिस्तान ने भारत के साथ ट्रेड बंद कर दिया था। 19 महीने से दोनों देशों के बीच व्यापार ठप पड़ा था। वहीं दूसरी ओर भारत ने भी पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान से आने वाली वस्तुओ पर 200 प्रतिशत तक ड्यूटी लगा दी थी।

जमकर हो रहा विरोध

इमरान खान सरकार के इस फैसले से कई विपक्षी नेता और पत्रकारों ने उनके इस फैसले की जमकर आलोचना की है. कई नेताओं ने इमरान खान के इस फैसले को यू-टर्न और कश्मीर संबंधित मामले पर समझौता करना बताया है। पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज  (पीएलएम-एन) ने सवाल किया है कि क्या भारत ने कश्मीर को लेकर अपना रुख बदल दिया है क्या? अगर ऐसा नहीं है तो इमरान खान ने यू – टर्न क्यों ले लिया?

 

नवाज शरीफ की पार्टी के एक नेता एहसान इकबाल ने सवाल किया है कि मै जानना चाहता हूं कि भारत से कपास और चीनी आयात करने का यह फैसला इतनी जल्दी में क्यों लिया गया? क्या भारत ने कश्मीर मुद्दे को लेकर अपना रूख बदला है? या कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के फैसले की तरफ कोई कदम उठाया है ? उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि इमरान खान की सरकार देश को हितो की चिंता नहीं है।

 

इसके अलावा इमरान खान की पूर्व पत्नी ने भी सरकार के फैसले पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा है कि ऐसा कौन-सा जलवायु परिवर्तन हुआ है कि भारत में कपास की पैदावार अच्छी हुई है और पाकिस्तान में कम हो गई।



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here