[ad_1]

एक ओर जहां देश और दुनिया धीरे-धीरे कोरोना का महामारी से उबरने लगे हैं वहीं सिर्फ महाराष्ट्र की बात की जाए तो स्थिति उतनी ठीक नहीं है। ऐसे में बीएमसी के अतिरिक्त नगर आयुक्त, सुरेश काकानी ने कहा कि मुंबई में कोविड-19 के बढ़ते मामलों की समीक्षा की जाएगी। यदि मामले बढ़ रहे हैं और लोग कोविड-19 नियमों की अनदेखी करते हैं, तो BMC अगले 10 दिनों के भीतर कड़े फैसले लेने में संकोच नहीं करेगा।  

बता दें कि महाराष्ट्र में 6 फरवरी से 12 फरवरी तक कोरोना वायरस के 20,590 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें से 20,200 लोग ठीक हो गए हैं जबकि 169 लोगों की जान गई। कोविड -19 मामलों की संख्या में राज्य का साप्ताहिक औसत  2,941 था और बुधवार (10 फरवरी) से दैनिक टैली में तेज वृद्धि हुई। कुल केस लोड 2.1 मिलियन के करीब है और रिकवरी 1,972,475 है। बढ़ते ग्राफ का असर तब से दिख रहा है जब राज्य में लॉकडाउन खत्म हुआ है। इसके अलावा राज्य में स्कूल भी धीरे-धीरे फिर से खुल रहे हैं।

इधर, कोरोना से लड़ने के लिए भारत अब पड़ोसी देशों को भी वैक्सीन भेजकर मदद कर रहा है। इसे भारत की वैक्सीन डिप्लोमेसी माना जा रहा है। रविवार को अफगानिस्तान में भारत से भेजी गई वैक्सीन की पहली खेप पहुंची है। भारत की तरफ से अफगानिस्तान को एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन की 500,000 डोज भेजे गए। बता दें इस वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी अभी तक इंतजार है।

स्वास्थ्य मंत्रालय में टीकाकरण कार्यक्रम के प्रमुख गुलाम दस्तगीर नाज़री ने बताया कि काबुल में खुराक तब तक संग्रहित की जाएगी, जब तक कि आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी न मिल जाए। बताया जा रहा है कि एक हफ्ते के भीतर आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिलने की संभावना है।



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here