[ad_1]

मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने नई शराब दुकानें खोलने का प्रस्ताव पर पहले भी चेतावनी दी थी कि ऐसा कोई प्रस्ताव न लाया जाये जिससे कि, प्रदेश में नई समस्याएं जन्म लें। वहीं, अब एक बार फिर से पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती और वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज अब आमने-सामने खड़ें है। बता दें कि, उमा भारती ने शराबबंदी की तैयारी कर ली है। उन्होंने कहा कि 8 मार्च को महिला दिवस के अवसर पर शराबबंदी का अभियान शुरू करेंगी। 

आपको बता दें कि सरकार वर्ष 2021-22 के लिए जल्द ही नई शराब नीति लागू करने की तैयारी कर रही है, लेकिन इससे पहले ही प्रदेश में सियासत गरमा गई है। पूर्व मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया पर लिखा है, ‘शराब और नशा मुक्ति अभियान के लिए मुझे मेरी सहयोगी मिल गई है। खुशबू नाम की यह युवती मध्यप्रदेश की है तथा वह उत्तराखंड़ में मेरे गंगा प्रवास में शामिल होने आई थीं। मैंने उसमें निष्ठा एवं साहस दोनों देखे, तभी उसका नाम गंगा भारती हो गया था। मैंने गंगा को 8 मार्च 2021 को महिला दिवस पर शराब एवं नशामुक्ति अभियान प्रारम्भ करने की तैयारी करने के लिए कहा है। आगे का विवरण वह स्वयं आप सबको 5 दिन बाद बताएंगी।’

पहले ही सरकार ही चेताया था

जिस दिन प्रदेश में शराब की नई दुकानें खोलने के बारे में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बयान दिया था, उसके बाद ही उन्होंने संकेत दे दिए थे कि वह शराब बंदी को लेकर अभियान शुरू करेंगी। करीब 10 पहले उन्होंने कहा था कि नशा करने के बाद ही रेप की घटनाएं बढ़ रही हैं, इसलिए नशा और शराबबंदी होनी चाहिए। ऐसा निर्णय लेने के लिए राजनैतिक साहस की जरूरत होती है। इसलिए मध्य प्रदेश में शराबबंदी को लेकर अभियान चलाया जाएगा।

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here