[ad_1]

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही बाॅर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज के चौथे दिन भी ऑस्ट्रेलियाई टीम का दबदबा बना रहा। भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने रविवार को कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट के पांचवें और अंतिम दिन का पहला सत्र सुरक्षित निकालना होगा। 

नस्ली टिप्पणी पर नाराज हुए पठान, दर्शकों को स्टेडियम ना आने की दी सलाह
         
भारत को मैच जीतने के लिए 407 रन का मुश्किल लक्ष्य मिला है और उसने चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक दो विकेट खोकर 98 रन बना लिए हैं और मैच जीतने के लिए भारत को अभी 309 रन बनाने हैं। भारत ने शुभमन गिल और दिन की समाप्ति से कुछ पहले अर्धशतकधारी रोहित शर्मा को गंवाया जिससे उसकी उम्मीदों को झटका लगा है। भारत की तमाम उम्मीदें नाॅटआउट बल्लेबाजों चेतेश्वर पुजारा और कप्तान अजिंक्य रहाणे पर टिकी हुई हैं। 

भारतीय खिलाड़ियों पर नस्ली टिप्पणी पर भड़के कंगारू कोच, बताया शर्मनाक
         
अश्विन ने चौथे दिन के खेल के बाद कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि ये दो नाॅटआउट बल्लेबाज अंतिम दिन मोर्चा संभाले रहेंगे और पहले सत्र में टीम के लिए मजबूत बुनियाद रखेंगे।’ रहाणे ने मेलबर्न में दूसरे टेस्ट में शानदार शतक बनाया था था जबकि पुजारा ने इस मैच की पहली पारी में संघर्षपूर्ण अर्धशतक बनाया था। 

ENG के खिलाफ पहले दो टेस्ट से बाहर हुए जडेजा, सिडनी में करेंगे बैटिंग!
         
ऑफ स्पिनर ने कहा, ‘हमारे लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम पहला सत्र अच्छा खेलें और अच्छे सत्र का मतलब है कि हमें कोई विकेट नहीं गंवाना है। क्रीज पर इस समय जो दो खिलाड़ी हैं, इनके पास विशाल अनुभव है और वे इस फॉमेर्ट को ज्यादा अच्छी तरह जानते हैं। अजिंक्य ने मेलबर्न में शतक लगाया था जबकि पुजारा सिडनी में अर्धशतक बना चुके हैं। हमें पूरी  उम्मीद है कि दोनों आखिरी दिन शानदार प्रदर्शन करेंगे।’

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here