[ad_1]

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए क्वींसलैंड सरकार ने राज्य में शुक्रवार से सोमवार शाम तक सख्त लॉकडाउन लगा दिया है, जिससे भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले चौथे टेस्ट मैच पर भी अब खतरे के बादल मंडरा रहे है। सरकार ने साफ किया है इस लॉकडाउन को आगे भी बढ़ाया जा सकता है। होटल के एक सफाईकर्मी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद यह एक्शन लिया गया है। भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें मगंलवार को ब्रिसबेन के लिए रवाना होंगी। 

बीसीसीआई के लेटर लिखने के बाद ब्रिसबेन से मिली भारतीय टीम को

न्यूज एजेंसी एपी के मुताबिक, क्वींसलैंड में शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार शाम 6 बजे तक के लिए सख्त लॉकडाउन लगाया गया है और इस दौरान सभी को अपने घरों में रहने के लिए कहा गया है। इंडिया और ऑस्ट्रेलिया की टीमों को लॉकडाउन खत्म होने के अगले दिन ब्रिसबेन के लिए रवाना होना है, लेकिन सरकार ने साफ किया है कि अगर स्थिति काबू नहीं होती है तो लॉकडाउन को आगे भी बढ़ाया जा सकता है। ऐसे में सीरीज का चौथा टेस्ट मैच अब खतरे में दिख रहा है। क्वींसलैंड की प्रीमियर एनास्टेसिया पलाजजुक ने कहा, ‘हम सख्त लॉकडाउन की तरफ जा रहे हैं और हमको इसको फैलने के लिए जल्द से जल्द सबकुछ करना होगा। यह बहुत ही सीरियस है। हम ग्रेटर ब्रिसबेन को हॉटस्पॉट एरिया में होने का ऐलान कर रहे हैं और मैं अपने साथियों से भी ग्रेटर ब्रिसबेन को हॉटस्पॉट एरिया घोषित करने की अपील करती हूं, जब तक कि हम इससे बाहर नहीं आ जाते हैं।’

IPL 2021: 21 जनवरी होगी खिलाड़ियों को रिटेन करने की आखिरी

बीसीसीआई और क्वींसलैंड सरकार के बीच पहले से ही चौथे टेस्ट मैच को लेकर खींचतान चल रही है। खबरों के अनुसार, टीम इंडिया ने क्वारंटाइन की पाबंदियों को देखते हुए ब्रिसबेन ना जाने की इच्छा जताई थी, जिसके बाद क्वींसलैंड सरकार ने बयान जारी करते हुए कहा था कि अगर भारतीय टीम नियम से नहीं खेलना चाहती है तो वह ब्रिसबेन ना आए। क्वींसलैंड सरकार के इस बयान से बीसीसीआई खफा हो गई थी और उन्होंने कहा था कि वह चौथे टेस्ट को लेकर विचार करेंगे। 

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here