[ad_1]

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी सिडनी टेस्ट में टीम इंडिया के लिए कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है। ऑस्ट्रेलिया के पहली पारी में 338 रन बनाने के बाद टीम इंडिया पहली पारी में 244 रन ही बना सकी। भारत की तरफ से इस पारी में सिर्फ दो अर्धशतक लगे। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से जोश हेजलवुड और पैट कमिंस ने शानदार गेंदबाजी करते हुए आपस में छह विकेट बांटे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय पारी के दौरान विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत चोटिल हो गए और उन्हें स्कैन के लिए ले जाया गया। कंगारू टीम की दूसरी पारी में ऋद्धिमान साहा पंत की जगह विकेटकीपर की भूमिका निभा रहे हैं। आइए जानते हैं कि प्लेइंग इलेवन में न होने के बाद आखिरकर कैसे साहा को विकेटकीपिंग करने का मौका मिल गया। 

आपको बता दें कि ‘कनकशन’ नियम के तहत साहा को ऑस्ट्रलिया के खिलाफ विकेटकीपिंग करने का मौका मिला है। इस नियम के तहत, अगर कोई खिलाड़ी चोटिल हो जाता है तो उस संबंधित टीम के यह मौका मिलता है कि वो चोटिल खिलाड़ी की जगह किसी दूसरे खिलाड़ी को खिलाए। इस मैच में पंत बल्लेबाजी के दौरान काफी अच्छे टच में आ रहे थे। पंत को यह चोट उस समय लगी जब कमिंस की एक तेज गेंद उनकी बाईं कोहनी पर जाकर लग गई। इसके बाद पंत काफी दर्द में दिखाई दिए थे। लगभग दस मिनट के इलाज के बाद पंत ने वापस बल्लेबाजी करते हुए 36 रनों की पारी खेली थी।

भारत की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, चोटिल होने पर स्कैन के लिए भेजे गए पंत

इस मैच में पंत ने आक्रामक शुरुआत की लेकिन बाजू में गेंद लगने से वह उतना सहज होकर शॉट नहीं लगा सके। वह 20 ओवर में 53 रन की साझेदारी निभाने के बाद हेजलवुड की गेंद पर विकेट के पीछे कैच दे बैठे। उनका विकेट 195 रनों के स्कोर पर गिरा। इस मैच में भारतीय बल्लेबाजों को ज्यादा रक्षात्मक खेलने के चक्कर में भी नुकसान उठाना पड़ा। पहले सेशन के 34 ओवर में मात्र 84 रन बने चूंकि पुजारा ने रनगति बढाने में दिलचस्पी ही नहीं दिखाई। रहाणे के आउट होने से दबाव और बढ़ गया।

दूसरी ओर पुजारा पहली 100 गेंदों में एक भी चौका नहीं लगा सके। रहाणे पहले सेशन में धीमी विकेट पर रन बनाने में नाकाम रहे। उन्होंने नाथन लायन को एक चौका और छक्का जरूर जड़ा लेकिन कमिंस की ऑफ कटर पर पूरी तरह चूक गए। उन्होंने पुजारा के साथ 22.3 ओवर में 32 रन जोड़े। केएल राहुल फिट होते तो विहारी शायद अपनी जगह उन्हें गंवा चुके होते। वह आधे घंटे क्रीज पर रहे लेकिन पूरी तरह असहज दिखे।

3 रनआउट के साथ 244 रनों पर सिमटा भारत, 12 साल बाद हुआ ऐसा    



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here