[ad_1]

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट से अपना डेब्यू  करने वाले भारतीय स्पिन आलराउंडर वॉशिंगटन सुंदर ने शुक्रवार को कहा कि चौथे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन के पांचवें टेस्ट शतक के बाद मेजबान टीम का पलड़ा भारी था, लेकिन अंतिम सेशन में टी नटराजन ने अपने दो विकेटों के साथ भारत को खेल में वापस ला दिया। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज नटराजन ने भी इस टेस्ट से अपना डेब्यू किया है। 

जो रूट के शतक की मदद से ENG मजबूत स्थिति में, SL पर बनाई बड़ी बढ़त 

सुंदर ने यहां वचुर्अल प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘अपना पहला टेस्ट खेल रहे नटराजन ने तीसरे सत्र में मैथ्यू वेड और लाबुशेन के महत्वपूर्ण विकेट चटकाए, जिससे दूसरे दिन सुबह भारतीय टीम की वापसी की उम्मीद बरकरार है। मुझे लगता है कि नटराजन ने बहुत अच्छी गेंदबाजी की। वह एक स्टार गेंदबाज हैं और उम्मीद है कि वह आगे भी ऐसे भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे।’

BCCI ने फ्रेंचाइजी को 20 जनवरी तक रिलीज प्लेयर्स की लिस्ट देने को कहा

“I think Nattu (Natarajan) bowled really well today and brought us back in the game,” says @Sundarwashi5 #AUSvIND pic.twitter.com/VWQPRn8Kpp

— BCCI (@BCCI) January 15, 2021

सुंदर ने ऑस्ट्रेलिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज स्टीवन स्मिथ का विकेट लेने पर कहा, ‘मैं सच में मैदान पर जाकर खुद को साबित करने के लिए उत्साहित था, लेकिन मैं भारत के लिए क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप में अपना पहला मैच खेलते वक्त थोड़ा घबरा गया था। देश का प्रतिनिधित्व करने और टेस्ट खेलने का यह एक बड़ा अवसर है। मैं सिर्फ बहुत गेंदें डालना चाहता था और विकेट लेना चाहता था।’ 



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here