[ad_1]

आयकर विभाग (Income Tax Department) ने आयकर रिटर्न की जल्द से जल्द फाइलिंग के लिए लिए ‘झटपट प्रोसेसिंग’ (Jhatpat Processing) शुरू की है। इसका मकसद है कि लोगों को स्वयं आयकर रिटर्न फाइल करने में दिक्कत पेश न आए। आईटीआर फाइल करने के लिए पांच दिन का समय बचा है। ऐसे में आइए जानते हैं ‘झटपट प्रोसेसिंग’ आपकी रिटर्न फाइल करने में कैसे मदद करेगा।

‘झटपट प्रोसेसिंग’ का फायदा वह लोग उठा सकते हैं जिन्हें ऑडिट करने की जरूरत नहीं है, वह लोग इसका फायदा उठा सकते हैं। आम टैक्सपेयर्स को 10 जनवरी तक रिटर्न फाइल करनी है और कंपनियों के लिए यह सीमा बढ़ाकर 15 फरवरी रखी गई है।

 

 

तुरंत होगी प्रोसेसिंग 
‘झटपट प्रोसेसिंग’ में यू ट्यूब पर आईटीआर1 (ITR)  और आईटीआर4 (ITR4) के लिए शुरू किए गए ‘झटपट प्रोसेसिंग’ के तहत रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी गई है। फाइल करो झट से, प्रोसेसिंग होगी पट से स्लोगन के जरिए टैक्सपेयर्स को आईटीआर फाइल करने के लिए प्रेरित किया गया है। 

10 जनवरी और 15 फरवरी अंतिम तारीख
करदाताओं के लिए आयकर दाखिल करने की अंतिम तिथि, जिनके लिए ऑडिट की आवश्यकता नहीं है  वो 10 जनवरी 2021 तक आईटीआर फाइल कर सकते हैं। इसके साथ ही जिन लोगों को ऑडिट की आवश्यकता है उनके लिए तारीख 31 जनवरी 2021 से बढ़ाकर 15 फरवरी 2021 कर दी गई है। 

 

इस तरह से लें झटपट सुविधा 

– जिनका आईटीआर सत्यापित है
– करदाता जिनके बैंक खाते पूर्व-मान्य हैं।
–  जिनके पास भुगतान करने के लिए कोई बकाया नहीं है
–  जिन व्यक्तियों की कोई आय में कोई गलती नहीं है।

– जिनके पास कोई टीडीएस या चालान   नही है जो मैच नहीं करता, वे इस नई सुविधा का उपयोग कर सकते है।

 



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here