[ad_1]

रेलवे ने एनटीपीसी के छठे चरण की की परीक्षा को लेकर अब बिहार के उम्मीदवारों में परीक्षा के सेंटर अन्य प्रदेशों में दिए जाने से इसका विरोध शुरू हो गया है। आफको बता दें कि एक फ्रैल से आठ अप्रैल तक परीक्षा होनी है। प्रवेश पत्र भी जारी कर दिया गया है। इसके लिए बिहार में भी विभिन्न जिला मुख्यालयों में सेंटर बनाए गए हैं, लेकिन राज्य के उम्मीदवारों को दूसरे राज्य में परीक्षा केंद्र होने पर उन लोगों पर नाराजगी जताई है। रेल मंत्रालय को इन अभ्यार्थियों ने पत्र लिखर कहा है कि कोरोना का खतरा बढ़ रहा है। ऐसे में दूसरे प्रदेश में परीक्षा केंद्र देने से परेशानी होगी। इससे कोरोना संक्रमण का खतरा भी बना रहेगा। ऐसे में अविलंभ राज्य में ही परीक्षा केंज्र बनाने की कार्रवाई केंद्र सरकार की ओर से की जानी चाहिए।  

RRB-NTPC:2021 के पदों के लिए आयोजित की जा रही पहले स्टेज की कप्यूटर बेस्ड परीक्षा का छठवां चरण 1 अप्रैल से शुरू हो जाएगा। बताया जा रहा है कि यह परीक्षा अप्रैल में पूरी कर ली जायेगी और इस परीक्षा में 6 लाख अभ्यर्थियों के बैठने की उम्मीद है। साथ ही माना जा रहा है कि जो भी अभ्यर्थी बच जाएंगे उन्हें अंतिम चरण में मौका दिया जाएगा। 

रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा रेलवे में नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (NTPC) पदों के लिए आयोजित की जा रही फर्स्ट स्टेज कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT) के छठवें चरण की परीक्षाएं अप्रैल में (1, 3, 5, 6, 7 और 8) को आयोजित की जाएंगी। इसी कड़ी में अभ्यर्थियों के ई-कॉल लेटर परीक्षा से चार दिन पहले जारी कर दिए जायेंगे। दो पारियों में होने वाली इस परीक्षा को RRB अजमेर राजस्थान के 9 शहरों के 46 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित किया जाएगा। 

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here